Category archives for: Humour

चमचे और कड़छियाँ … संत राम बजाज

आज सुबह सुबह नुक्सान हो गया| एक कीमती चाय का प्याला टूट गया| जैसे ही मैं ने उबलता हुआ पानी उस में डाला वह क्रैक हो गया| मूड थोड़ा ऑफ हो गया| उधर फोन की घंटी बजकर बंद हो गई और दुबारा बजने लगी| मैं ने फोन उठाया| दर्शन सिंह की आवाज़ थी| “यार, तुम […]

ये आँसू ! ….संतराम बजाज

अब आप कहेंगे कि ये क्या आँसुओं का रोना रोने आ गए| इतना सीरियस टॉपिक! एक तो करोना पीछा नहीं छोड़ रहा है और इस ने हमें आँसू बहाने पर मजबूर कर रखा है | कोई आँसू पोंछने वाला भी नहीं मिलता, सभी तो दुखी हैं इससे, और ऊपर से आप भी आंसूओं की याद […]

हम और हमारी पहली साइकिल …संतराम बजाज

बेशक आजकल कारों में घूमते हैं, परन्तु जब बचपन के दिनों की याद आती है तो, उस पहली साइकिल को भुलाए नहीं भूल पाते| उन दिनों की साइकिल बहुत सादा होती थी, आजकल की तरह दर्जनों गीयर और तरह तरह के टायर और हैंडल नहीं होते थे| वैसे तो २०० साल वाली पहली साइकिल के […]

“हमका माफ़ी दई दो” …      संत राम बजाज   

एक बहुत बड़े शॉपिंग माल में Santa Claus एक ऊंची जगह बैठे हुए हैं और उन के सामने एक लंबी क्यू लगी हुई है और मैं भी उस क्यू का हिस्सा हूँ| सब के हाथ में एक एक पर्चा है, जिस पर मोटे मोटे शब्दों में लिखा है, “हमका माफ़ी दई दो” और Santa उन […]

करोना के साथ साथ…

संतराम बजाज करोना है कि जाने का नाम ही नहीं लेता| यह तो बिन बुलाए मेहमान से भी बढ़कर है| मेहमान से तो फिर भी उस की तरह ढीठ बनकर कुछ उलटा सीधा बोल छुटकारा पाया जा सकता है| परन्तु, यहाँ तो न ऊंचा बोलने से काम चलता और न ही किसी तरह की ज़ोर […]

दवाईयों की लपेट में!    … संतराम बजाज   

मेरा मक़सद आपकी बीमारियाँ जानने का नहीं है और न ही आप कितनी दवाईयाँ लेते हैं, या फिर कब और क्यों| आप को ‘क़ब्ज़ी’ है और इसबगोल का छिल्का लेते हैं या कुछ और, यह आप जानें या आप का डॉक्टर, मेरा उस से कुछ लेना देना नहीं है| और न ही मुझे इस बात […]

गोरे गाल पे काला तिल   ….. संतराम बजाज

आज कल काले-गोरे के भेदभाव पर फिर से झगड़े चल रहे हैं| ‘BLACK LIVES MATTER’, इस बात की ओर इशारा करता है| ख़ास कर अमेरिका में पुलिस के हाथों कई ‘काले’ रंग के लोग मारे गए हैं| काले रंग के लोगों के साथ हो रही ज्यादतियां की सारी ज़िम्मेदारी प्रेजिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प पर डाली जा […]

मैं काह करूं राम !….

  संतराम बजाज   कोविड-19 करोनावायरस ने इतना परेशान कर रखा है कि कुछ सुझाई नहीं देता किसी और विषय के बारे में सोचा ही नहीं जाता| करोनावायरस की ‘यूज़ बाई डेट’(Use by Date)  या ‘वर्स्ट बिफोर’(Worst Before) का पता ही नहीं चलता| अब यह तो ‘उमर कैद’ की तरह लगने लगा है| उमर कैदियों को […]

ट्रम्प और मोदी की दूसरी ज़ूम मीटिंग….

संतराम बजाज    “हाउडी मोडी?” ट्रम्प ने वीडियो मीटिंग को शुरू करते हुए कहा| “हाई डोनाल्ड,” मोदी ने बेदिली से जवाब दिया| “मैं आज बहुत खुश हूँ, मुझे इलेक्शन जीतने का नुस्खा मिल गया है|” “कौन सा नुस्खा?” “मैं ने यहाँ क्रोनावायरस को काबू करने के लिए नये बन रहे वैक्सीन ‘Remdesivir’ के  3  महीने […]

ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे: ट्रम्प और मोदी

दोस्तों की ज़ूम मीटिंग (२) …संतराम बजाज “हेलो डोनाल्ड!” मोदी ने कनेक्शन मिलाया| “हाई मोडी! कैसा है तुम?” ट्रम्प बड़ा चहक कर बोला| “मैं तो ठीक हूँ, तुम बताओ वह जो chloroquine भेजी थी, मिल गई क्या?” “मिल गई ? मैं तो उसे रोज़ खाता हूँ|” “कोई असर हुआ?” “पता नहीं, कोई दूसरा तो उसे […]

Search Archive

Search by Date
Search by Category
Search with Google